Download Free Sad Shayari in Hindi – 2020

Latest and best free for download sad Hindi Shayari, which you can share with your family and friends. These Shayari can also be used for WhatsApp and Facebook status.

1. Free to download Sad Shayari in Hindi, Aankhein do chaar hui

Hindi-sad-shayari

Hui thi aankhein do chaar us se aaj bahut muddaton baad…
Hath uth gaya hamara salam k liye wo qubul karne ko palke bhi na jhuka saka…

हुई थी आंखें दो चार उस से आज बहुत मुद्दतों बाद…
उठ गया हाथ हमारा सलाम के लिये, वो क़ुबूल करने को पलके भी ना झुका सका।।

Muddaton = A span of time  क़ाफी समय बाद

2. Sad Hindi Shayari free to download, Sochta reh gaya

hindi-shayari-alvida

Khud hi ki thi aaghaz-e-dosti khud hi wo alvida keh gaya
Thi meri galti kya, mein yahi sochta reh gaya…

ख़ुद ही की थी आग़ाज़-ए-दोस्ती, ख़ुद ही वो अलविदा कह गया
थी मेरी ग़लती क्या, मैं यही सोचता रह गया।।

Aaghaz = Starting  शुरूवात

3. Free Sad Shayari, Tere Dil Ka Hissa

Alvida-sad-shayari

Ghup-Andhera bhi tere dil ka ek hissa lagta hai…
Kitne hi din guzre par bahaar ka rasta ham khoj na sake…

घुप अंधेरा भी तेरे दिल का एक हिस्सा लगता है…
कितने ही दिन गुज़रे पर बाहर का रास्ता हम खोज ना सके

4. Sad Shayari in Hindi – Teri Bewafai

Teri-bewafai-super-sad-hindi-shayari.

Teri bewafai se accha to hamko ek tarfa ishq hota
Kam se kam teri tasveer ko to seene se laga liya karte …

तेरी बेवफ़ाई से अच्छा तो हमको एकतरफ़ा इश्क़ होता
कम से कम तेरी तस्वीर को तो सीने से लगा लिया करते।।

5. Musafir the mein

Hindi-sad-shayari-Mai-musafir

Musafir tha mein, unhone pyaar se rok liya tha…
Pyaar ke tarazu se mera dil hi tol diya tha…

Yaad jab aaya k musafir hun mein…
Der ho chuki thi aur dil unhone tod diya tha

मुसाफ़िर था मैं, उन्होंने प्यार से रोक लिया था…
प्यार के तराज़ू से मेरा दिल ही तोल दिया था।।

याद जब आया कि मुसाफ़िर हूँ मैं…
देर हो चुकी थी और दिल उन्होंने तोड़ दिया था।।

 

6. Sad Shayari Free To Download

Teri aankho k chashme na phutey apni gam-e-judai pe

Ab youn samajh lu k tere bagair hi zindagi theek hai

Thak jaega wo mujhe ab dhundtey dhundtey

Ab aankh se ojhal ho jana hi theek hai

Teri hasi se roshnai thi mere deed me

Ab chandni bhi amawas hai,phir bhi theek hai

Aarzi nahi thi meri ulfat tere khatir

Bas daimi hai ye hijr, baqi sab kuch theek hai

तेरी आँखो के चश्मे ना फूटे अपनी गम-ए-जुदाई पे

अब यू समझ लू क तेरे बगैर ही ज़िंदगी ठीक है

थक जाएगा वो मुझे अब ढूनडते ढूनडते

अब आँख से ओझल हो जाना ही ठीक है

तेरी हसी से रौशनाई थी मेरे दीद मे

अब चाँदनी भी अमावस है,फिर भी ठीक है

आरज़ी नही थी मेरी उलफत तेरे खातिर

बस दाईंमी है ये हिज्र, बाक़ी सब कुछ ठीक है |

Deed = Eyes आखें

Aarzi = Temporary  अस्थायी

Daimi = Permanent, Eternal  स्थायी

Hijr = Separation  जुदाई

 

7. Wafa Ka Sila

Wafa Ka sila kuch is tarah mila hai

Jo mera tha wo kisi aur se ja mila hai

Takleef hijr ne nahi vasl k lamho ne di hai

K mere lamho k waqt kisi aur ko ja mila hai

Raqeeb se na ranjish hai na hai adaavatein

Jo bhi gam hai wo to bas tujh se mila hai

Qatl kar deti to pur sukoon mera jism ho jata

Magar har roz zakhm naya meri rooh ko mila hai

Tujhe kya khabar kya beet gayi mujhpe…

Ye murdar jism aur chhalni dil teri us do pal ki mohabbat ka sila hai …

वफ़ा का सिला कुछ इस तरह मिला है

जो मेरा था वो किसी और से जा मिला है

तकलीफ़ हिज्र ने नही वस्ल क लम्हो ने दी है

के मेरे लम्हो क वक़्त किसी और को जा मिला है

रक़ीब से ना रंजिश है ना है आदावतें

जो भी गम है वो तो बस तुझ से मिला है

क़त्ल कर देती तो पूर सुकून मेरा जिस्म हो जाता

मगर हर रोज़ ज़ख़्म नया मेरी रूह को मिला है

तुझे क्या खबर क्या बीत गयी मुझपे…

ये मुरदार जिस्म और छलनी दिल तेरी उस दो पल की मोहब्बत का सिला है …

Vasl = Meeting (especially used in the context of lovers) मिलन

Hijr = Separation  जुदाई

Raqeeb = Two men falling in love with same women, then those 2 men are called Raqeeb of each other

जब दो आदमी एक ही औरत से प्यार करते है तो वो दोनो आपस मे रक़ीब कहे जाते हैं

Ranjish = Enmity शत्रुता

Adaavatein = Enmity, Hatred शत्रुता

 

8. Download Free Sad Hindi Shayari , Khud se hi bichad gaya hu

Mai to khud se hi bichad gaya hu
Kuch kam,  kuch zada bhatak sa gaya hu
Phir se koi mujhko mujhse milwa de
Meri khushamdeed mujhse hi karwa de
Is tarah raha to ab bhatak nahi, kho jaunga
Mil jane par bhi shayad wapas na aa paunga
Aye rehnuma ab mujko mujhse juda na hone de
Do din ki zindagi hai mujhko mujhi me rehne de…

मै तो खुद से ही बिछड़ गया हूँ

कुछ कम,  कुछ ज़डा भटक सा गया हूँ

फिर से कोई मुझको मुझसे मिलवा दे

मेरी खुशमादीद मुझसे ही करवा दे

इस तरह रहा तो अब भटक नही, खो जाऊगा

मिल जाने पर भी शायद वापस ना आ पाऊगा

आए रहनुमा अब मुजको मुझसे जूदा ना होने दे

दो दिन की ज़िंदगी है मुझको मुझी मे रहने दे…

Khushamdeed = Welcome  स्वागत

9. Waqt ham par youn hasa

Waqt ham par youn hasa, ke aankhon se ashq ruk na sake

Bebasi k aalam kuch aisa tha, k ham bhi kuch kar na sake

Dur hota dikha wo apna jahan, jise racha tha bahot sehaj k

Aur faasle itne the, jinhe ham tai kar na sake

Ab us jahan me basta koi aur hai, jageer jo ham kisi ki de na sake

Abaad rahe wo apni duniya mein, par ham wo martaba kisi ko de na sake.

वक़्त हम पर यू हॅसा, क आँखों से अश्क़ रुक़ ना सके

बेबसी क आलम कुछ ऐसा था, क हम भी कुछ कर ना सके

दूर होता दिखा वो अपना जहाँ, जिसे रचा था बहुत सेहज के

और फ़ासले इतने थे, जिन्हे हम तैय कर ना सके

अब उस जहाँ मे बस्ता कोई और है, जागीर जो हम किसी की दे ना सके

आबाद रहे वो अपनी दुनिया में, पर हम वो मर्तबा किसी को दे ना सके ||

Ashq = Tears  आँसू

Jageer = Possessions  संपत्ति

This Post Has One Comment

Leave a Reply