Best Emotional Shayari On Mother In Hindi

Emotional Shayari On Mother In Hindi

Love Your Mother, Kadmon me jiske jannat hai

shayari-on-mother-mother's-day

Kadmon me jiske jannat hai
Jisko pyar se dekhna bhi sunnat hai

Har bacche ki jo pehli zaroorat hai
Khud ke liye jisey kabhi na fursat hai

Bholi jiski soorat hai
Mamta ki jo moorat hai

Koi aur nahi hai, wo hai Maa hamari
Jag me jo hai sabse nyari

Jo laati hai sab ke mukh pe muskaan
Jo nahi karte kadr uski, wo hai ekdum nadaan

कदमों मे जिसके जन्नत है |
जिसको प्यार से देखना भी सुन्नत है ||

हर बच्चे की जो पहली ज़रूरत है |
खुद के लिए जिसे न कभी फुर्सत है ||

भोली जिसकी सूरत है |
ममता की जो मूरत है ||

कोई और नहीं है,वो है माँ हमारी |
जग मे है जो सबसे न्यारी ||

जो लाती है सबके मुख पे मुस्कान |
जो नहीं करते कद्र उसकी, वो है एकदम नादान ||

Beautiful Emotional Hindi Shayari on Mother, Bina bole hi

mother's-day-emotional-shayari

Bina bole hi samajh leti thi wo
Ha.  mere rone ko samajh leti thi wo

Bachpan me mai jab chal nahi paata tha
Mere daudne k sapne bun leti thi wo

Har roz meri pasand ka khana dastarkhwan pe lati hai wo
Mujhe khaate dekh apna peit bhar leti hai wo

Ye jo mustaqbil buland hai ham sabka, ye koi apna kamaal nahi
Behtareen taleem k khatir, apne zewar bech deti hai wo

Jo koi mushkil, koi pareshani aa jae mujhe pe
Raat bhar duaon me ro leti hai wo

Kabhi pareshan ho to choom le uske pairo ko ham sab
Ke apne pairo k neeche jannat rakhti hai wo

Bina bole hi samajh leti hai wo
Har dukh aur dard seh leti hai wo…

बिना बोले ही समझ लेती थी वो |
हा. मेरे रोने को समझ लेती थी वो ||

बचपन मे मै जब चल नही पाता था |
मेरे दौड़ने क सपने बुन लेती थी वो ||

हर रोज़ मेरी पसंद का खाना दस्तरखवाँ पे लाती है वो |
मुझे खाते देख अपना पेट भर लेती है वो ||

ये जो मुस्तक़बिल बुलंद है हम सबका, ये कोई अपना कमाल नही |
बेहतरीन तालीम क खातिर, अपने ज़ेवर बेच देती है वो ||

जो कोई मुश्किल, कोई परेशानी आ जाए मुझे पे |
रात भर दुआओं मे रो लेती है वो ||

कभी परेशन हो तो चूम ले उसके पैरो को हम सब |
के अपने पैरो क नीचे जन्नत रखती है वो ||

बिना बोले ही समझ लेती है वो |
हर दुख और दर्द सह लेती है वो ||

Mustaqbil/मुस्तक़बिल = भविष्य, Future

Leave a Reply